जगदीप का संक्षिप्त जीवन परिचय (Brief biography of Jagdeep)

Jagdeep biography hindi

जगदीप हिंदी सिनेमा के प्रारंभिक कॉमेडियन अभिनेताओं में से एक हैं। उनका वास्तविक नाम तो सैयद इश्तियाक अहमद जाफरी है परंतु वह जगदीप के नाम से ही मशहूर हैं। जगदीप ने वर्ष 1950 में प्रहलाद दत्त द्वारा निर्देशित रोमांटिक ड्रामा फिल्म मधुबाला से हिंदी सिनेमा में पदार्पण किया था। इस फिल्म में उन्होंने बाल कलाकार का किरदार निभाया था। जगदीप की अंतिम फिल्म वर्ष 2017 में मस्ती नहीं सस्ती थी। जगदीप ने अपने फिल्मी करियर में 400 से अधिक फिल्मों में काम किया। उन को सबसे अधिक लोकप्रियता वर्ष 1975 में आई रमेश सिप्पी द्वारा निर्देशित फिल्म शोले  से प्राप्त हुई थी। इस फिल्म में उन्होंने सूरमा भोपाली का किरदार निभाया था,  जिससे वह आगे चलकर बहुत लोकप्रिय हुए। इसके अलावा इनकी अन्य फिल्मी पुराना मंदिर,  अंदाज अपना अपना,  अब दिल्ली दूर नहीं,  आर पार,  2 बीघा जमीन और हम पंछी एक डाल के। काफी समय से बीमार रहने के कारण 8 जुलाई 2020 को 81 वर्ष की आयु में जगदीप का देहांत हो गया।

Also Read  Accessorizing the Patio for Outdoor Living and Culinary Fun

 जगदीप का जन्म और उनकी पारिवारिक पृष्ठभूमि। (Jagdeep’s birth and his family background.)

जगदीप का जन्म 29 मार्च 1939  को दतिया  सेंट्रल प्रोविंस (मध्य प्रदेश) में ब्रिटिश इंडिया के समय एक शिया मुस्लिम परिवार में हुआ था। इनके पिता सैयद यावर हुसैन जाफरी  पेशे से वकील थे। इनकी माता  कनीज हैदर एक गृहणी महिला थी। इनके एक भाई हैं  जिनका नाम अमरदीप है।जगदीप के बचपन में ही इनके पिता का देहांत हो गया। उसके बाद इनके परिवार को बहुत सी समस्याओं से जूझना पड़ा। वर्ष 1947 में हुए भारत पाकिस्तान विभाजन के पश्चात  जगदीप अपने परिवार सहित मुंबई आकर बस गए। बचपन में जगदीप ने आर्थिक तंगी से निकलने के लिए बावर्ची का काम भी किया।

जगदीप की शैक्षणिक योग्यता (Jagdeep’s educational qualification)

जगदीप की माता को यह पसंद नहीं था कि वह अपने स्कूल फीस जुटाने के लिए बहुत मेहनत करें। इसलिए बचपन में उन्होंने अपनी पढ़ाई छोड़ दी और मुंबई की सड़कों पर पतंगे,  साबुन और कंघी बेचने लगे ताकि वह अपनी मां की मदद कर पाए।

जगदीप का निजी जीवन। (Jagdeep’s personal life.)

जगदीप ने अपने जीवन में तीन शादियां की थी। जिनमें से पहली पत्नी का नाम नसीम बेगम,  दूसरी पत्नी का नाम  सुगरा बेगम  और तीसरी पत्नी का नाम नाजिमा  बेगम है। इनकी तीनों शादियों के मिलाकर कुल 6 बच्चे हैं।पहली पत्नी नसीम बेगम से इन्हें हुसैन जाफरी और जावेद जाफरी दो बेटों की प्राप्ति हुई। वर्ष 1960 में  जगदीप ने सुगरा बेगम से शादी की थी। जिन से इन्हें नावेद जाफरी एक बेटे की प्राप्ति हुई। 

Also Read  100 FEET ROAD INDIRANAGAR BANGLORE PIN CODE

इनकी पहली पत्नी से शकीरा शफी और सुरय्या जाफ़री की तथा तीसरी पत्नी नाज़िमा से मुस्कान जाफ़री एक बेटी की प्राप्ति हुई| 

जगदीप  की व्यक्तिगत जानकारी (Jagdeep’s personal information)

वास्तविक नामसैयद इश्तियाक अहमद जाफरी
उपनामजगदीप
लोकप्रिय किरदारसूरमा भोपाली ( फिल्म शोले)
जगदीप का जन्मदिन29 मार्च 1939
जगदीप की आयु ( मृत्यु के समय)81 वर्ष
जगदीप का जन्म स्थानदातिया सेंट्रल प्रोविंस ( मध्य प्रदेश) ब्रिटिश इंडिया
जगदीप का मूल निवास स्थानमध्य प्रदेश भारत
जगदीप की मृत्यु तिथि8 जुलाई 2020
जगदीप की मृत्यु का कारणआयु अधिक होने के कारण बीमारी
जगदीप का मृत्यु स्थानबांद्रा मुंबई भारत
जगदीप की राष्ट्रीयता  भारतीय
जगदीप का धर्मइस्लाम
जगदीप की जाति शिया मुस्लिम 
जगदीप की शैक्षणिक योग्यताज्ञात नहीं
जगदीप के स्कूल का नामज्ञात नहीं
जगदीप के कॉलेज का नामलागू नहीं 
जगदीप का व्यवसायअभिनेता  और कॉमेडियन
जगदीप की कुल संपत्ति20  करोड रुपए  के लगभग
जगदीप की वैवाहिक स्थितिविवाहित

 जगदीप की शारीरिक संरचना (Jagdeep’s body composition)

जगदीप की लंबाई5 फुट 7 इंच
जगदीप का वजन55 किलोग्राम
जगदीप का शारीरिक मापछाती 38 इंच, कमर 32 इंच,  बाइसेप्स 13 इंच
जगदीप की आंखों का रंगकाला
जगदीप के बालों का रंगकाला और सफेद

 जगदीप का परिवार (Jagdeep’s family)

जगदीप के पिता का नामसैयद यावर हुसैन जाफरी
जगदीप की माता का नामकनीज हैदर
जगदीप के भाई का नामअमरदीप
जगदीप की पत्नी का नामनसीम बेगम ( पहली पत्नी) सुगरा बेगम ( दूसरी पत्नी) नाजिमा ( तीसरी पत्नी)
जगदीप के बेटों का नामहुसैन जाफरी,  जावेद जाफरी और ना वेद जाफरी
जगदीप की बेटियों के नामशकीरा शाफी,  सुरैया जाफरी और मुस्कान जाफरी

जगदीप का हिंदी सिनेमा में पदार्पण। (Jagdeep’s debut in Hindi cinema.)

एक बार जब वह सड़क के किनारे सामान बेच रहे थे तो उन पर एक फिल्म  निर्देशक की नजर पड़ी जिसने जगदीप को अपनी फिल्म अफसाना में बतौर बाल कलाकार काम करने का प्रस्ताव दिया। जगदीप उस समय छोटे थे और उनको इसका कुछ अनुभव भी नहीं था। वर्ष 1951 में जगदीप ने अफसाना फिल्म से हिंदी सिनेमा में पदार्पण किया। इसके पश्चात उन्होंने वर्ष 1952 में धोबी डॉक्टर फिल्म में किशोर कुमार के किशोरावस्था की भूमिका निभाई। जिसे दर्शकों और क्रिटिक्स द्वारा खूब पसंद किया गया। जगदीप ने वर्ष 1957 में भाभी फिल्म से हिंदी सिनेमा में बतौर मुख्य अभिनेता पदार्पण किया। वर्ष 1957 में हम पंछी एक डाल के फिल्म में जगदीप ने जो अभिनय किया था उससे भूतपूर्व प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू इतने प्रभावित हुए कि उन्होंने जगदीप के लिए एक पर्सनल स्टाफ बतौर टोकन ऑफ एसोसिएशन दे दिया।

Also Read  CHILKANAGAR UPPAL PIN CODE

इसके पश्चात वह कई फिल्मों जैसे कि अब दिल्ली दूर नहीं वर्ष 1953,  2 बीघा जमीन वर्ष 1953, बरखा वर्ष 1959,  तीन बहू रानियां वर्ष 1968,  ब्रह्मचारी वर्ष 1968,हम एक हैं वर्ष 1969,  दो भाई वर्ष 1969,  जानवर और इंसान वर्ष 1972,  आ गले लग जा वर्ष 1973, विदाई  वर्ष 1974 आदि।

जगदीप को सबसे अधिक लोकप्रियता वर्ष 1975 में रमेश सिप्पी द्वारा निर्देशित एक्शन एडवेंचर फिल्म शोले से प्राप्त हुई। इस फिल्म में उन्होंने सुरमा भोपाली का किरदार निभाया था। इनका यह किरदार इतना लोकप्रिय हुआ कि वर्ष 1988 में इन्होंने सोरमा भोपाली फिल्म का निर्देशन कर डाला। जगदीप ने वर्ष 1994 में आई कॉमेडी फिल्म अंदाज़ अपना अपना में बांकेलाल भोपाली का भी किरदार निभाया। वर्ष 1998 में उन्होंने राजकुमार संतोषी द्वारा निर्देशित फिल्म चाइना गेट में सब इंस्पेक्टर नागेश्वर रमैया की भूमिका भी निभाई थी।

जगदीप ने अपने फिल्मी करियर में 400 से अधिक फिल्मों में काम किया।

जगदीप की मृत्यु और कारण (Jagdeep’s death and cause)

आयु अधिक होने के कारण जगदीप बीमार रहने लगे थे। उनकी सेहत में लगातार गिरावट आ रही थी। 8 जुलाई 2020 को रात के लगभग 8:00 बजे उन्होंने अंतिम सांस ली थी। उनकी मृत्यु के पश्चात 9 जुलाई 2020 को मुंबई की सिया कब्रिस्तान में उनके पार्थिव शरीर को दफनाया गया। जगदीप का 81 वर्ष की आयु में देहांत हो गया और वह हमेशा के लिए अपने चाहने वालों को अलविदा कह गए।